गधा और धोबी की कहानी

गधा और धोबी की कहानी

एक गाँव मे एक रोहन नाम का धोबी रहता था। रोहन बहुत ही चतुर और दूसरों का फायदा उठाने वाला इंसान था। इसलिए उसके दोस्त भी बड़े कम थे।

रोहन धोबी के पास एक गधा था, गधा कुछ महीनों पहले तो बहुत अच्छा और हट्टा कट्टा था, पर कुछ दिन से रोहन का काम न चलने के कारण वह अच्छा खाना नहीं कहा पा रहा था।

ऐसे में वह बड़ा कमजोर हो गया था, इसी कारण अब वह ज्यादा वजन भी उठाने के लायक नहीं रह गया था। ऐसे में रोहन को कपड़ों को शहर में लाने ले जाने के लिए बड़ी परेशनी का सामना करना पड़ता था।

वह कैसे भी अपने गधे को पहले जैसा बनाना चाहता था, ताकि उसे वजन न उठाना पड़े।

एक दिन रोहन धोबी को एक उपाय सुझा, गधे को मोटा और तन्दरुस्त करने का। रोहन के पास एक शेर की खाल पढ़ी हुई थीं, रोहन ने वह खाल अपने गधे को पहनाई, और रात को उसे हरी सब्जियां और घास खाने के लिए गॉव वालों के खेत मे छोड़ दिया।

गांव वालों ने जब रोहन धोबी के गधे को खेत मे घास और सब्जी खाते हुए देखा, तब वे डर के भाग गए, उन्हें लगा, यह असली में कोई शेर है।

कुछ दिन तक तो ऐसा ही चला, लेकिन एक दिन गधा खेत मे घास खा रहा था, और दूर खड़े गॉव के लोग अपनी फसल और घास को बर्बाद होते हुए देख रहे थे।

अचानक से गधे को एक गधी की आवाज सुनाई दी। गधी की आवाज सुनाई देते ही गधा भी जोर जोर से चिल्लाने लगा।

सारे गाव वालों को पता चल गया कि शेर नहीं बल्कि एक गधा है।

सारे गाव वालों ने गधे को मारते मारते अपने खेत से भगा दिया। अगली बार से कभी गधा वहां नज़र नहीं आया।

सीख – किसी का बुरा नहीं सोचना चाहिए।

दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारे दुबारा शेयर की गधा और धोबी की कहानी पसंद आयी होगी। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट StoryLiterature.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

Post a Comment

Previous Post Next Post